गुड़ और चना साथ में खाने के फायदे – Benefits of jaggery and Chana in Hindi

Benefits of jaggery and Chana in Hindi

गुड़ और चने में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की अपनी-अपनी खूबियां हैं। वैसे क्या आप दोनों को साथ में खाने के फायदे जानते हैं? अगर नहीं, तो इस आर्टिकल में हम विस्तार से इन दोनों को एक साथ खाने के फायदे (Benefits of jaggery and Chana in Hindi) बताएंगे।

बता दें कि गुड़ और चने का साथ में सेवन सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है। गुड़ और चने का साथ में सेवन करने से आपको तीन गुना ज्यादा फायदे मिलते हैं। गुड़ में भरपूर मात्रा में आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, फास्फोरस, कार्बोहाइड्रेट के अलावा अन्य कई पौषक तत्व शामिल होते हैं।

गुड़ को खाने से शरीर में आयरन की कमी दूर होती है। और साथ ही चने में भी काफी मात्रा मे कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन-बी के साथ ही कई तत्व मौजूद होते हैं। जिससे आप कई बीमारियों से बचे रहते हैं। चलिए जानते हैं रोजाना गुड़ व चना खाने से आपको क्या-क्या फायदे मिलते हैं।

गुड़ और चना खाने के फायदे – Benefits of jaggery and Chana in Hindi

गुड़ और चना स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकते हैं, जिनके बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है। बस ध्यान दें कि ये किसी बीमारी का उपचार नहीं हैं। ये नीचे बताई गईं स्वास्थ्य स्थितियों में कुछ हद तक राहत प्रदान कर सकते हैं। अगर किसी को कोई गंभीर बीमारी है, तो इसके लिए डॉक्टर से इलाज कराना बेहतर होगा।

1. हड्डियों के लिए चने के फायदे

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए भी रोजाना एक मुट्ठी चना और गुड़ का सेवन करना चाहिए। 40 साल की उम्र के बाद शरीर में हड्डियां कमजोर होने लगती है और इनका क्षरण होना शुरू हो जाता है। यही कारण है कि शरीर में जोड़ों से संबंधित दर्द भी शुरू हो जाते हैं।

मजबूत हड्डियों के लिए कैल्शियम से समृद्ध खाद्य पदार्थों के सेवन की सलाह दी जाती है। वहीं, चने में भी कैल्शियम की मात्रा पाई जाती है, जो शरीर में कैल्शियम की कमी को दूर कर हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है।  इसलिए, हड्डियों के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए गुड़-चना खाना चाहिए।

2. हृदय के लिए चने के फायदे

गुड़-चना हृदय को लंबे समय तक सेहतमंद रखता है। और गुड़ में मौजूद पोटैशियम, मैग्नीशियम, सेलेनियम, मैंगनीज और जिंक ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के साथ हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं और हार्ट अटैक के खतरे को भी रोकता है। इस प्रकार हृदय को स्वस्थ बनाए रखने में गुड़-चना खाने के फायदे देखे जा सकते हैं।

3. कब्ज चने के फायदे

शरीर का डाइजेशन सिस्टम खराब होने की वजह से कब्ज और एसिडिटी की समस्या हो जाती है। ऐसे में गुड़ और चने खाएं,  गुड़ डाइजेस्टिव एजेंट की तरह काम कर सकता है और बेहतर पाचन के लिए सहायक हो सकता है।

पाचन बेहतर होगा, तो कब्ज की समस्या से बचाव हो सकता है। इसी तरह चना फाइबर से भरपूर होता है और फाइबर पाचन में मदद कर कब्ज से निजात दिलाने में सहायक हो सकता है।

4. सर्दी होने पर चने के फायदे

Cold fever

सर्दी के दिनों में या सर्दी होने पर गुड़ का प्रयोग आपके लिए अमृत के समान होगा। इसकी तासीर गर्म होने के कारण यह सर्दी, जुकाम और खास तौर से कफ से आपको राहत देने में मदद करेगा। इसके लिए दूध या चाय में गुड़ का प्रयोग किया जा सकता है, और आप इसका काढ़ा भी बनाकर ले सकते हैं।

5. खून की कमी को दूर करे

गुड़ और चना दोनों ही आयरन से भरपूर होते हैं यही कारण है कि एनीमिया से बचने के लिए यह बेहद मददगार साबित होते है। गुड़ में उच्च मात्रा में आयरन होता है,और भुने हुए चने में आयरन के साथ-साथ प्रोटीन भी पाया जाता है। इस प्रकार गुड़ और चने को एक साथ मिलाकर खाने से एनीमिया रोग के लिए जिम्मेदार आवश्यक पोषक तत्वों की कमी पूरी हो जाती है, और खून की कमी दूर होती है।

6. दांतों के लिए

गुड़ चना खाने के फायदे में ओरल हेल्थ भी शामिल है। दांतों को सेहतमंद रखने के लिए भी गुड़ और चने का सेवन लाभदायक हो सकता है। दरअसल, गुड़ में मौजूद विटामिन-सी  मसूड़ों के साथ दांतों के स्वास्थ्य के लिए उपयोगी हो सकता है। बात करें चने की, तो इसमें कैल्शियम और मैग्नीशियम मौजूद होता है, जो दांतों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी माने गए हैं। कैल्शियम और मैग्नीशियम दांतों को मजबूत बनाए रखने का काम कर सकते हैं।

7. एनीमिया में चने के फायदे

खून में हीमोग्लोबिन की कमी ज्यादातर महिलाओं में देखने को मिलता है। ऐसे में महिलाओं को अपनी डाइट में आयरन से भरपूर चीजें लेने की सलाह दी जाती है, जिसके लिए गुड़ चना बेस्ट ऑप्शन है। साथ ही इससे शरीर में कभी खून की कमी भी नहीं होती।

8. बॉडी को मिलती है भरपूर एनर्जी

energy

गुड़ और चना न केवल आपको एनीमिया से बचाने का काम करते हैं, बल्कि आपके शरीर में आवश्यक उर्जा की पूर्ति भी करते हैं। शरीर में आयरन अवशोषि‍त होने पर ऊर्जा का संचार होता है, जिससे थकान और कमजोरी महसूस नहीं होती है। हालांकि अत्यधिक मात्रा में भी इसका सेवन आपके भोजन की आदत प्रभावित कर सकता है।इसलिए इसे नियमित रूप से और नियंत्रित मात्रा में खाना अधिक फायदेमंद रहता है।

9. वजन कम करने में सहायक

how to weight loss

वजन कम करने के लिए भी गुड़ और चने का सेवन किया जा सकता है। दरअसल, चने की गिनती लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स (जीआई) फूड में होती और इसमें प्रोटीन की मात्रा भी पाई जाती है। बता दें, ग्लाइसेमिक इंडेक्स एक तरह का माप है, जिससे यह मालूम होता है,

कि कोई खाद्य पदार्थ शरीर में कितनी जल्दी रक्त शर्करा को बढ़ा सकता है। सिर्फ कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों को जीआई में शामिल किया जाता है। ग्लाइसेमिक इंडेक्स फूड वजन कम करने में सहायक हो सकते हैं। वहीं, इसमें मौजूद प्रोटीन भूख को नियंत्रित कर वजन कम करने में मदद कर सकता है।

इसके अलावा, गुड़ का सेवन भी कुछ हद तक वजन को कम करने में मदद कर सकता है। दरअसल, इससे जुड़े एक शोध में जिक्र मिलता है कि गुड़ में पोटेशियम पाया जाता है, जो वजन नियंत्रण प्रक्रिया में सहायक हो सकता है। इस प्रकार चना और गुड़ खाने के फायदे वेट लॉस में देखे जा सकते हैं, लेकिन इसके साथ संतुलित आहार और नियमित व्यायाम करना भी आवश्यक है।

इसे भी पढे –

10. इम्यूनिटी के लिए गुड़ और चने के फायदे

Immunity

रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए गुड़ और चने का सेवन लाभकारी हो सकता है। दरअसल, गुड़ में ऐसे कई विटामिन और मिनरल मौजूद होते हैं, जो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने में मदद कर सकते हैं। वहीं, चने में जिंक मौजूद होता, जो इम्यूनिटी को मजबूत करने में अहम भूमिका निभा सकता है।

इसके अलावा, एक अन्य रिसर्च में जिक्र मिलता है कि चने के छिलके में मौजूद पॉलीसैकेराइड इम्यून सिस्टम की गतिविधि को बढ़ाने का काम कर सकता है। इन तथ्यों को देखते हुए कहा जा सकता है कि शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में गुड़ और चने का सेवन लाभकारी हो सकता है।

गुड़ और चना का उपयोग – How to Use Gud Aur Chana in Hindi

चना और गुड़ साल भर उपलब्ध रहते हैं। इन्हें आप घर के पास किसी भी किराने की दुकान या सुपर मार्केट से खरीद सकते हैं। वहीं, नीचे बताए तरीकों को अपनाकर इनका सेवन कर सकते हैं।

  • गुड़ और चने का सेवन लंच और डिनर के बाद मीठे की क्रेविंग को शांत करने के लिए कर सकते हैं।
  • नाश्ते में भी इसका सेवन अच्छा ऑप्शन हो सकता है। जो लोग बॉडी बनाने के लिए जिम जाते हैं, वे नाश्ते में भीगे हुए चने और गुड़ खा सकते हैं।
  • गुड़ और चने के लड्डू या चिक्की बनाकर भी सेवन किया जा सकते हैं।
कितनी मात्रा में गुड़ और चना खाएं : 

गुड़ और चने को प्रतिदिन कितनी मात्रा में ले सकते हैं, फिलहाल इसे लेकर कोई वैज्ञानिक रिसर्च मौजूद नहीं है। फिर भी रोजाना 10-12 ग्राम गुड़ और 50 ग्राम चने का सेवन आहार विशेषज्ञ की सलाह पर किया जा सकता है। हालांकि, व्यक्ति के स्वास्थ्य के आधार पर इसके सेवन की सही मात्रा में बदलाव हो सकता है।

गुड़ और चना के नुकसान – Side Effects of Gud and Chana in Hindi

Benefits of jaggery and Chana in Hindi

यदि किसी भी चीज को अत्यधिक ज्यादा मात्रा में खाया जाए, तो उसके नुकसान भी हो सकते है, जैसे एक सीमित मात्रा में गुड़ और चने का सेवन सेहत के लिए अच्छा हो सकता है, लेकिन अत्यधिक मात्रा में इन्हें  लेने के नुकसान भी हो सकते हैं। गुड़ और चने खाने के नुकसान के बारे में जानते है,

  • गुड़ का अधिक मात्रा में सेवन डायबिटीज के जोखिम को बढ़ा सकता है।
  • चने में एंटीन्यूट्रिशनल कंपाउंड की मौजूदगी का पता चलता है, जो शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन बिगाड़ सकते हैं।
  • संवेदनशील लोगों में चने का सेवन एलर्जी का कारण बन सकता है।
  • गुड़ में शुगर मौजूद होता है और शुगर का अधिक सेवन दांतों की क्षति का कारण बन सकता है।
  • पेट के लिए फाइबर युक्त चने का सेवन लाभकारी है, लेकिन फाइबर को ज्यादा लेना गैस, पेट फूलना और पेट में ऐंठन की परेशानी का कारण बन सकता है।

गुड़ और चने का सेवन विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं में कुछ हद तक लाभकारी हो सकता है। वहीं, इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि इनके फायदे पाने के लिए इनका जरूरत से ज्यादा सेवन करें। इनका अधिक मात्रा में किया गया सेवन बताए गए गुड़ और चने के नुकसान का कारण बन सकता है।

चना और गुड़ खाने के फायदे पाने के लिए इन्हें हमेशा सीमित मात्रा में ही खाएं। उम्मीद है यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। ऐसे ही सेहत और स्वास्थ्य से जुड़े अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए hindihealthguide से जुड़े रहें।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *