आम के फायदे और नुकसान – Benefits of Mango in Hindi

Mangoes Benefits

गर्मी का मौसम आ गया है, हम सभी को इस मौसम का इंतजार रहता है। क्योंकि इस मौसम में मीठा-मीठा आम आता है। आम को फलो का राजा ऐसे ही नहीं कहा गया है। आम में पाए जाने वाले पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते है।

कई अध्ययनों पता चला है कि आम के सेवन से कई छोटे-बड़ें रोगों से हमें छुटकारा मिल सकता है। आम खाने के फायदे (Benefits of Mango in Hindi) अनेक है आम में पाया जाने वाला बीटा कैरोटीन हमारे शरीर को कई रोगों से बचाता है।

हम आपको बता दें कि आम में लगभग 20 से भी अधिक मिनिरल्स और विटामिन्स पाये जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए कई प्रकार से लाभदायक होते है। चलिए जानते है आम के फायदे (Benefits of Mango in Hindi) हमें किन-किन रोगों से दूर करेंगे।

आम के प्रकार – Mangoes Types in Hindi

  • हिमसागर पश्चिम बंगाल
  • जर्दालू बिहार
  • बंगनपल्ली आंध्र प्रदेश
  • बादामी कर्नाटक
  • अल्फांसो महाराष्ट्र के रत्नागिरी में
  • केसर गुजरात के सौराष्ट्र में
  • लंगड़ा वाराणसी, उत्तर प्रदेश
  • मनकुरद और मुसरद गोवा
  • दसेहरी लखनऊ और मलिहाबाद
  • तोतापुरी आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और कर्नाटक
  • मालदा बिहार के दीघा में
  • नीलम हैदराबाद

आम में पाए जाने वाले विटामिन  – Mango nutrition in Hindi

  • प्रोटीन (Protein) – 1.4 ग्राम
  • कैलोरी (Calories) – 99
  • वसा (Fat) – 0.6 ग्राम
  • कार्ब (Carbs) – 24.7 ग्राम
  • आहार फाइबर (Dietary fiber) – 2.6 ग्राम
  • विटामिन सी (Vitamin C) – दैनिक आहार का 67%
  • कॉपर (Copper) – RDI का 20%
  • फोलेट (Folate) – RDI का 18%
  • विटामिन ए (Vitamin A) – आरडीआई का 10%
  • विटामिन बी 5 (Vitamin B5) – RDI का 6.5%
  • विटामिन बी 6 (Vitamin B6) :RDI का 11.6%
  • विटामिन ई (Vitamin E) – RDI का 9.7%
  • विटामिन के (Vitamin K) : RDI का 6%
  • नियासिन (Niacin) : RDI का 7%
  • मैग्नीशियम (Magnesium) – RDI का 4%
  • पोटेशियम (Potassium) – RDI का 6%
  • राइबोफ्लेविन (Riboflavin) – RDI का 5%
  • मैंगनीज (Manganese) – RDI का 4.5%
  • थियामिन (Thiamine) – RDI का 4%

आम खाने के फायदे – Benefits of Mango in Hindi

आम खाने के बहुत सारे फायदे होते हैं जिनसे हम अभी तक अनजान है लेकिन आज हम आपको उनसे परिचित करेंगे।

पढ़ते रहिए

1. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में

Immunity

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता का सही होना बहुत जरूरी है। आम को अपने डाइट में शामिल कर आप अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में विटामिन-सी काफी मदद करता है। और आम विटामिन-सी से भरपूर है। एक अध्ययन के अनुसार, विटामिन-सी एलर्जी की समस्या को कम करता है और संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है।

इसे भी पढे – How to boost Immunity System – इम्यूनिटी सिस्टम कैसे बढ़ाए

2. कैंसर से बचाव

आम में कैंसर जैसी घातक बीमारी से लड़ने की शक्ति होती है। आम में पाए जाने वाले कैरोटीनॉयड, एस्कॉर्बिक एसिड, टर्पेनॉयड और पॉलीफिनॉल कैंसर रोग से बचाव करते है। आम में एंटीऑक्सीडेंट्स होते है जो की कई फल व सब्जियों में नहीं पाए जाते है। टेक्सास स्टडी के एक अध्ययन से पता चलता है कि आम खाने के फायदे कैंसर सेल को बढ़ने से रोकता है।

3.  हड्डियों के लिए

हड्डियों को स्वस्थ और मजबूत रखने के लिए आम का सेवन करना जरूरी है। आम में विटामिन-ए और सी भरपूर मात्रा में मौजूद होता है।और इसमें कैल्शियम भी भरपूर मात्रा में होता है, जो हड्डियों को स्वस्थ व मजबूत रखने में मदद करता है। आम में ल्यूपॉल (lupeol) नामक एक तत्व भी होता है, जो सूजन और गठिया आराम दिलाने में मदद कर सकता है।

4. आंखों के लिए

Burning eyes causes

आंखों को स्वस्थ रखने के लिए आम काफी फायदेमंद है। विटामिन ए की कमी के कारण नाइट ब्लाइडनेस होने का खतरा रहता है। आम में विटामिन-ए  और बीटा कैरोटीन पाया जाता है जो आंख के लिए फायदेमंद है। नेत्र में सुधार लेन के लिए रोजाना आम का सेवन करें यह रतौंधी, मोतियाबिंद, शुष्क आँखें जैसे विभिन्न आंख से संबंधित विकारों से आँखों की रक्षा करता है।

इसे भी पढे – आंखों में जलन के कारण एवं 5 इलाज – Burning eyes causes

5. दिमाग के लिए

आम दिमाग को तेज रखने के लिए और याददाश्त मजबूत करने में भी काफी मदद करता है। आम में मौजूद बायोएक्टिव घटक दिमाग को स्वस्थ रखने में मदद करता है। आम के अर्क में कुछ ऐसी चीजें होती हैं, जिससे याददाश्त तेज होती है।

वहीं, थाईलैंड में हुए एक अन्य अध्ययन में आम में न्यूरोप्रोटेक्टिव (neuroprotective) गुण होने की पुष्टि की गई है। आम आयरन और विटामिन बी 6 से भरपूर होता है। विटामिन बी6 आपको सही सोचने और समझने में मदद करता है।

6.  त्वचा के लिए

glowing skin

शरीर के साथ-साथ त्वचा का ध्यान रखना भी जरूरी है। आपको बता दें कि आम में बीटा कैरोटिन और विटामिन ए प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जर्मन अध्ययन के अनुसार कैरोटीनाइड त्वचा को स्वस्थ्य बनाए रखने में मदद करता है। वही बीटा कैरोटीन एक फोटोप्रोटेक्टिव एजेंट है,

यह एपिडर्मिस पर होने वाले फोटोकेमिकल रिएक्शन को रोकने में मदद करता है। जिसके कारण पराबैंगनी किरणों से त्वचा की रक्षा होती है। जिससे आप सूरज की तेज धूप से अपनी त्वचा को बचा पाते है। इसके अलावा, एक चीनी अध्ययन के अनुसार, आम में मौजूद पॉलीफेनोल एंटीकैंसर जो त्वचा के कैंसर को रोक सकते हैं।

7. बालों के लिए

hair

बालों की खूबसूरती आम का सेवन जरूरी है। बालों को स्वस्थ और खूबसूरत बनाने के लिए सिर्फ शैंपू, कंडीशनर और तेल ही नहीं, बल्कि सही डाइट भी जरूरी है। बालों को खूबसूरत और चमकदार बनाने के लिए आप आम का सेवन कर सकते हैं। आम में प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी पाया जाता है, जो कोलेजन उत्पादन को बढ़ावा देता है और बालों को स्वस्थ बनाने में मदद करता है। आम में कई ऐसे पौष्टिक तत्व हैं, जो बालों को घना और चमकदार बना सकते हैं।

इसे भी पढे – बालों को झड़ने से रोकने के उपाय और इलाज – How to Stop Hair Fall in Hindi

8. दिल के लिए

आम दिल से जुड़ी कई बीमारियों को कम करने या फिर दूर करने में सहायक साबित होता है। आम का सेवन शरीर से फैट को कम करने के साथ ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के लिए भी किया जा सकता है। ओकलाहोमा स्टेट यूनिवर्सिटी द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, आमों में कई खनिज और फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो शरीर में ग्लूकोज और वसा के लेवल को ठीक बनाए रखने में मदद करता है।

9.  कोलेस्ट्रॉल के लिए

कोलेस्ट्रॉल के खतरे से बचने के लिए आम का सेवन कर सकते हैं। आम में प्रचुर मात्रा में न्यूट्रासिटिकल (nutraceutical) मौजूद होता है, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है। एक अध्ययन में मैंगिफरिन (आम में मौजूद अहम यौगिकों में से एक) का प्रयोग चूहों पर किया गया, जिससे उन उन चूहों का कोलेस्ट्रॉल स्तर कम हो गया। यह एचडीएल (उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन) यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाने में भी मदद कर सकता है।

10. वजन कम करने के लिए

reduce weight

कुछ लोग अपने बढ़ते वजन को लेकर बहुत परेशान होते है। और वजन कम करने के लिए व्यायाम और योग करते है। लेकिन इन सबके अलावा भी कई चीजों का ध्यान देना पड़ता है। अगर आप प्रत्येक दिन व्यायाम करते है, और अपने आहार पर ध्यान नहीं देते है, तो इससे आपके स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

अगर आप वजन घटना चाहते है, तो इसके लिए आम का फल भी बहुत लाभदायक होता है। इसके अंदर प्रचुर मात्रा में फाइबर पाया जाता है, जो की वजन कम करने में मदद करता है। कुछ अध्ययन के मुताबिक ऐसा पता चला है, की सब्जियों में पाया जाने वाला फाइबर वजन कम करने में सहायक होता है। आपको अपनी डाइट में आम को भी शामिल करना चाहिए।

इसे भी पढे – वज़न घटाने के लिए 10 एक्‍सरसाइज – Exercise For Weight Loss

11. पाचन के लिए

Digestion

आम पाचन क्रिया को बेहतर करने में मदद करता है। आम के अंदर लैक्सेटिव नामक गुण पाया जाता है, जो की हमारे पेट को साफ़ रखने में मदद करता है। आम पेट सम्बन्धी बिमारियों से और पाचन क्रिया बेहतर करने में मदद करता है। इसके अंदर कई पोषक तत्वों के अलावा फाइबर भी पाया जाता है। फाइबर हमारे शरीर की पाचन क्रिया को मजबूत करता है। जिसकी वजह से पेट में कब्ज नहीं होती है, और पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है।

12. गर्भावस्था के दौरान

गर्भावस्था के समय भी आम का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है। गर्भवती महिला को पोषक तत्व और पौष्टिक आहार की बहुत जरूरत होती है, विशेषकर, विटामिन-ए की। गर्भवती महिला को ऐसे में आम का सेवन लाभकारी हो सकता है,

क्योंकि आम में विटामिन-ए भरपूर मात्रा में होता है। लेकिन, फिर भी आम का सेवन संतुलित मात्रा में ही करें, क्योंकि आम के ज्यादा सेवन से जेस्टेशनल डायबिटीज होने का खतरा बढ़ सकता है। अगर किसी को गर्भकालीन मधुमेह है, तो आम के सेवन से पहले डायटीशियन या डॉक्टर के पास जाएं और सलाह लें।

13. खून की कमी के लिए

हमारे शरीर को सही खान-पान न मिलने पर और शरीर को जरूरी पौष्टिक तत्व न मिलने से खून की कमी हो सकती है। ऐसे में आम का सेवन फायदेमंद हो सकता है। केवल आम नहीं, बल्कि आम का फूल भी खून की कमी में काफी मददगार साबित हो सकता है। आम कई तरह के पौष्टिक तत्वों से भरा होता है। आम में मौजूद विटामिन-सी शरीर में आयरन के अवशोषण में मदद कर सकता है और एनीमिया की समस्या से राहत दिलाने में कारगार साबित हो सकता है।

14. आम में मौजूद एंटी-अल्सर गुण

आजकल कई तरह की पेट संबंधी समस्याएं गलत खान-पान के कारण होती है और अल्सर भी उन्हीं में से एक है। भूख न लगना व पेट में दर्द इसके लक्षण होते हैं। ऐसे में डॉक्टर की सलाह और दवाइयों के साथ-साथ आम का सेवन भी फायदेमंद हो सकता है। आम में मौजूद एंटी-अल्सर गुण हैं, जिससे अल्सर की समस्या से आराम मिल सकती है। आम के अंदर मौजूद पॉलीफेनोलिक सूजन को कम करने में फायदेमंद साबित हो सकता हैं।

15. मलेरिया से बचाव के लिए

मच्छरों से फैलने वाली एक गंभीर बीमारी मलेरिया है। अगर वक्त रहते इस पर ध्यान न दिया जाए, तो इससे मरीज की जान को खतरा बढ़ सकता है। इसलिए, इसके बचाव पर विशेष ध्यान देना जरूरी है। दरअसल, आम के छाल के अर्क में  एंटी-मलेरियल गुण मौजूद होता है। ऐसे में सीधे तौर पर आम तो नहीं, लेकिन इसके छाल का अर्क मलेरिया के इलाज में फायदेमंद हो सकता है। हालांकि, बेहतर है इसके उपयोग से पहले डॉक्टरी सलाह ली जाए।

आम का उपयोग – Uses of Mango in Hindi

Mangoes Benefits
  • आम का उपयोग आचार, जेम और इसकी स्मूदी का इस्तेमाल केक बनाने के लिए किया जाता है।
  • आम गर्मियों खाना चाहिए, यह हमारे स्वस्थ के लिए बहुत लाभदायक होता है।
  • पका हुआ आम लेकर अच्छे से धोकर भी खा सकते है।
  • आमतौर पर घरो में अमचूर पाउडर बनाने में कच्चे आम का उपयोग भी किया जाता है।
  • यदि आप आम का फल ऐसे नहीं खाना चाहते है, तो आप आम का जूस या आम का शेक बनाकर पी सकते है।
  • आम और अन्य कई सामग्रियों को मिलकर आप इसकी आइसक्रीम बनाकर भी खा सकते है, जो की खाने मैं बहुत स्वादिष्ट होती है।
  • गर्मियों के मौसम आम कच्चे होते है, तो कई लोग आम चटनी और सब्जी बनाकर भी खाते है।

आम खाने के नुकसान – Side Effects of Mangoes in Hindi

  • ज्यादा कच्चे आम खाने से गैस या पेट दर्द की समस्या हो सकती है।
  • गठिया रोग के मरीज़ को आम का सेवन डॉक्टर से पूछकर करें।
  • ज्यादा आम खाने से ब्लड में शुगर लेवल बढ़ सकता है।
  • यदि आप आम जरूरत से ज्यादा खाएँगे तो चर्बी और डायबिटीज दोनों बढ़ सकते हैं।
  • आम में भरपूर मात्रा में फाइबर होने के कारण इसके ज्यादा सेवन से दस्त हो सकते है।
  • यदि आप आम ज्यादा मात्रा में खाते है तो इससे आपके मुँह में छाले भी हो सकते है, क्योंकि आम की तासीर गर्म होती है।
  • यदि आप कच्चा आम खाकर इस पर दूध का सेवन करते है तो भी यह आपके सेहत के लिए हानिकारक होता है।
  • जो डायबिटीज़ के मरीज़ होते है उन्हें आम का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि आम के अंदर शुगर की मात्रा पायी जाती है, जोकि डायबिटीज़ के मरीजो के लिए हानिकारक हो सकते है।
  • कुछ लोगों को आम के सेवन से एलर्जी या गले में खराश की समस्या हो सकती है। खराश तब होती है, जब आम काटते वक्त आम के ऊपरी हिस्से को ठीक से साफ नहीं किया जाता या उसका दूध नहीं निकाला जाता है। इससे खुजली या सूजन की समस्या भी हो सकती है।यदि आपको आम से त्वचा में खुजली हो तो आम का सेवन बिल्कुल नही करना चाहिए।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *