दही खाने के फायदे, उपयोग और नुकसान – Curd Benefits in Hindi

Curd Benefits in Hindi

दही सेहत को बरकरार रखने लिए फायदेमंद माना जाता है। कई लोग इसके स्वाद के कारण इसे कई तरह से उपयोग में लाते है। दही में कैल्शियम  भरपूर मात्रा में पाया जाता है। और दही शरीर में कैल्शियम  की कमी को दूर करता है।

और हड्डियों को मजबूत बनाता है। और साथ ही, दही सौंदर्य  में भी फायदेमंद है। बहुत से लोग दही खाते तो है लेकिन दही के फायदे और नुकसान के विषय में नहीं जानते है। दही बहुत सी समस्याओं को दूर रखने में मदद करता है।

आज हिन्दीहेल्थगाइड (HindiHealthGuide) के इस आर्टिकल में दही के फायदे, दही के नुकसान और दही के उपयोग के बारे विस्तार से बताया गया है। ध्यान दे, दही किसी भी गंभीर समस्या का उपचार नहीं है। गंभीर बीमारी होने पर डॉक्टरी ट्रीट्मन्ट जरूरी है।

दही खाने के फायदे – Curd Benefits in Hindi

दही के अनेकों फायदे है। और दही बहुत सी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। जैसे – पेट संबंधित समस्या होने पर, बालों की समस्या में, त्वचा में और ह्रदय रोग में दही के फायदे देखे जा सकते है। चलिए इन सभी फ़ायदों को विस्तार से जानते है।

1. वजन घटाने में फायदेमंद

reduce weight

मोटापा कई बीमारियों को जन्म देता है, इसलिए मोटापे को जरूर नियंत्रित करना चाहिए। वजन कम करने में दही भी शामिल है। दही वजन कम करने में भी फायदेमंद है। एक रिसर्च के मुताबिक, दही के सेवन से भूख काम लगती है। और वजन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। दही में कुछ ऐसे बैक्टीरिया पाए जाते है जो भोजन को पचाने में मदद करते है। दही के सेवन से शरीर से कैलोरी की मात्रा घटती है, और शरीर का वजन नियंत्रित रहता है।

2. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में फायदेमंद

Immunity

दही के सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है, क्योंकि दही रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में फायदेमंद साबित हो सकता है। एनसीबीआई (National Center for Biotechnology Information) की वेबसाईट पर प्रकाशित एक रिसर्च के अनुसार,

शरीर को नुकसान पहुँचाने वाले बैक्टीरिया को खत्म करने की क्षमता दही में होती है। इन हानिकारक बैक्टीरिया से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता का बचाव होता है। और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है।

साथ ही, दही में अच्छे बैक्टीरिया होते हैं जो बार – बार होने वाले योनि संक्रमण से से बचाव कर सकते हैं। इसलिए दही को डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए।

3. पाचन के लिए फायदेमंद

Digestion

दही पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में फायदेमंद होता है। एक्स्पर्ट्स के अनुसार, दही में प्रोबायोटिक्स (Probiotics) यानी कि कुछ ऐसे बैक्टीरिया पाए जाते है जो स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए फायदेमंद माने जाते है।

प्रोबायोटिक्स लैक्टोज (शुगर का एक प्रकार) के पाचन में मदद करते हैं।  इसके अलावा पाचन से जुड़ी अन्य समस्याओं को बेहतर बनाने में मदद करते है। दही पेट की गर्मी को शांत करने में बेहद मदद करता है। दही में उपस्थित बैक्टीरिया पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाते है।

4. प्रोटीन का अच्छा स्रोत

वास्तव में दही प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। क्योंकि दही में पाए जाने वाले अन्य पोषक तत्वों के साथ साथ प्रोटीन की भरपूर मात्रा पाई जाती है। दही का सेवन करने से शरीर मरण प्रोटीन की कमी को पूरा किया जा सकता है। दही में उपस्थित प्रोटीन कोशिकाओं की मरम्मत करने के साथ साथ नई कोशिकाओं का भी निर्माण करता है। इसीलिए बच्चों, किशोरों और गर्भवती महिलाओं को दही खाने की सलाह दी जाती है।

5. हड्डियों को मजबूत बनाने में फायदेमंद (ऑस्टियोपोरोसिस)

यदि आपकी हड्डियाँ कमजोर है, तो जाऊर आपके शरीर में केल्सियम की कमी है। हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए दही एक अच्छा विकल्प है। क्योंकि दही में कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम के साथ-साथ कुछ मात्रा में विटामिन डी भी मौजूद होता है। 

ये सभी तत्व बोन मिनरल डेंसिटी को बढ़ाकर हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करते है। एक रिसर्च में भी इस बात की पुष्टि की गई है। दही हड्डियों की समस्या (ऑस्टियोपोरोसिस) को दूर करने में मदद करता है।

6. हृदय स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

दही हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है। एक रिसर्च के अनुसार, हफ्ते में दो बार दही का सेवन करने से हफ्ते में दो बार दही का सेवन करने वाले उच्च रक्तचाप से पीड़ित लोगों में सामान्य के मुकाबले हृदय संबंधी समस्याओं का जोखिम काफी कम रहता है। ऐसे में यह माना जा सकता है कि दही के सेवन से हृदय स्वास्थ्य बेहतर रहता है। लेकिन अभी इस संबंध में और रिसर्च की आवश्यकता है।

7. भूख बढ़ाने में फायदेमंद

दही भूख बढ़ाने में मदद करता है जिन लोगों को भी भूख नहीं लगती कुछ भी खाने का मन नहीं करता उन लोगों को दही का सेवन करना चाहिए। दही थोड़ा काला नमक डालकर खाने से भूख तेजी से बढ़ती है। और पाचन क्षमता को भी बेहतर बनाता है। दही पेट संबंधी कई समस्याओं को दूर करता है।

8. त्वचा के दाग-धब्बों को दूर करने में फायदेमंद

glowing skin

त्वचा के दाग – धब्बों को दूर करने में दही फायदेमंद साबित हो सकता है :

उपयोग होने वाली सामग्री :
  1. एक चम्मच दही,
  2. आधा चम्मच शहद
इस्तेमाल करने का तरीका :
  • एक बर्तन में दही और शहद डालकर अच्छे से मिक्स कर लें।
  • उसके बाद, इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और लगभग 10 से 15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  • और समय (Time) खत्म होने के बाद अपने चेहरे को पानी से साफ कर लें।
कैसे है फायदेमंद :

चेहरे पर दही का पेस्ट लगाने से चेहरे के दाग-धब्बे दूर होते है। क्योंकि दही में पाए जाने वाले लैक्टिक एसिड में ब्लीचिंग प्रभाव पाया जाता है। इस कारण दही मृत त्वचा (Dead Sells) को तो हटाता ही है, साथ ही, दही चेहरे की चमक को बरकरार बनाने का काम करता है।

9. डार्क सर्कल को दूर करने में फायदेमंद

दही का इस्तेमाल डार्क सर्कल को दूर करने में भी किया जाता है:

उपयोग होने वाली सामग्री :
  • एक चम्मच दही
  • और एक रूई का टुकड़ा
इस्तेमाल करने का तरीका :
  • सबसे पहले रूई के टुकड़े को दही में डुबोएं और हल्के हाथों से डार्क सर्कल्स पर लगाएं।
  • दही को 10 मिनट तक ऐसे ही लगा रहने दें।
  • समय खत्म होने के बाद इसे पानी से धो लें।
कैसे है फायदेमंद :

डार्क सर्कल्स को मेडिकल टर्म में पेरिऑरबिटल हाइपरपिग्मेंटेशन (Periorbital hyperpigmentation) कहा जाता है। साथ ही, ब्लीचिंग इफेक्ट वाले तत्व इस समस्या से छुटकारा दिलाने में इस्तेमाल किए जा सकते हैं। हमने पहले ही बात की थी कि दही में लैक्टिक एसिड की मौजूदगी के कारण इसमें ब्लीचिंग प्रभाव पाया जाता है। दही का इस्तेमाल डार्क सर्कल की समस्या दूर करने के लिए किया जा सकता है।

10. बालों का झड़ने से रोकनें में फायदेमंद

How to Stop Hair Fall in Hindi

दही के इस्तेमाल से बालों का झड़ना बंद हो सकता है:

उपयोग होने वाली सामग्री :
  • आधा कप दही
  • और 3 चम्मच मेथी पाउडर
कैसे इस्तेमाल करें
  • सबसे पहले दही में मेथी पाउडर मिलाकर इसका पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को स्कैल्प (खोपड़ी) और बालों पर अच्छे से लगाएं।
  • एक घंटे तक इसे ऐसे ही लगा रहने दें और समय खत्म होने पर शैम्पू से धो लें।
कैसे है लाभदायक

दही डैंड्रफ की समस्या से छुटकारा दिलाने में फायदेमंद साबित हो सकता है। डैंड्रफ स्कैल्प से जुड़ी समस्या है। वहीं यह बाल झड़ने के मुख्य कारणों में भी शामिल है। ऐसे में, डैंड्रफ के कारण बाल झड़ने की समस्या को दूर करने में दही का इस्तेमाल कारगर साबित हो सकता है।

दही का पौष्टिक तत्व – Curd Nutritional Value in Hindi

दही में हमारे शरीर के लिए कई पोषक तत्व पाए जाते है। दही कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन ए, राइबोफ्लेविन, फास्फोरस, विटामिन बी -2, विटामिन बी -12, पोटैशियम और मैग्नीशियम का महत्वपूर्ण स्रोत है। साथ ही एक बात और बता दे कि, दही में पोटैशियम उतना ही पाया जाता है जितना पोटैशियम केले में पाया जाता है।

दही का उपयोग – Uses of Curd (Dahi) in Hindi

दही खाने की बात करें तो इसे व्यक्ति की उम्र और स्वास्थ्य के हिसाब से खाना बेहतर साबित हो सकता है। लेकिन उससे पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। चलिए अब दही के उपयोग को जानते है :

  • दही से मीठी लस्सी बना सकते हैं।
  • दही से छाछ बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।
  • दही से दही बड़ा, दही पापड़ी और कढ़ी बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।
  • दही का उपयोग पनीर की सब्जी बनाने में भी कर सकते हैं।
  • दही से तैयार रायते को खाने के साथ इस्तेमाल कर सकते है।
  • दही का इस्तेमाल बिरयानी बनाने में भी कर सकते हैं।
  • दही का उपयोग फलों के साथ डेजर्ट बनाने के लिए किया जा सकता है। डेजर्ट के रूप में इसे नाश्ते में खाया जा सकता है।
  • दही से कई प्रकार के व्यंजन बनाकर उनका सेवन किया जा सकता है।

दही का सेवन कब खाना चाहिए?

दही का सेवन सुबह या दोपहर के समय करना बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। क्योंकि दही में मौजूद प्रोटीन, जिंक, कैल्शियम आदि ये सभी तत्व आपकी बॉडी को अच्छे तरीके से प्राप्त होते है। जिसके कारण आपको किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं होती है। यदि दही का सेवन दिन के समय करेगें तो आपको गले की दिक्कत या फिर अर्थराइटिस जैसे परेशानी नहीं होगी। लेकिन हाँ, किसी भी मौसम में दही का सेवन रात में नहीं करना चाहिए।

दही का सेवन कितनी मात्रा में करना चाहिए?

वैसे तो दही के सेवन की कोई निश्चित मात्रा नहीं है लेकिन दही के अधिक सेवन से फायदे की जगह नुकसान झेलने पड़ सकते है। पूरे दिन में लगभग 6 से 8 आउंस यानी कि 1 कप दही का सेवन किया जा सकता है।

दही के नुकसान – Side Effects of Curd in Hindi

दही के ज्यादा सेवन से या कुछ विशेष परिस्थितियों में दही के नुकसान हो सकते है :

  • दही का सेवन कमरे के सामान्य तापमान पर करना चाहिए। क्योंकि दही की तासीर ठंडी होती हैं। वहीं, दही का सेवन ठंडे मौसम में रात के के समय नहीं करना चाहिए।
  • सोडियम की मौजूदगी के कारण अधिक दही खाने के नुकसान हड्डियों के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं। वहीं, जिन्हें जोड़ों में दर्द रहता है, उन लोगों को खट्टे और ठंडे दही का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • कुछ लोगो को दूध से एलर्जी होती है। उन लोगों को दही के सेवन से बचना चाहिए। वरना, सूजन जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

इस आर्टिकल में बताई गई सभी बातें उपयोग करने का तरीका, फायदे, नुकसान अच्छे से समझ में आ गए होंगे। लेकिन एक बात का ध्यान रखे कि इस आर्टिकल में बताए गए दही के उपयोग किसी भी समस्या से राहत तो दिला सकते है,

लेकिन पूर्ण इलाज नहीं है। कोई भी समस्या होने पर सबसे पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। यदि आर्टिकल में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपनों के साथ शेयर जरूर करे।

और ऐसी ही जानकारियों के लिए हिन्दीहेल्थगाइड (HindihealthGuide) से जुड़े रहे। और हमें Facebook, Twitter, Instagram और Google News पर फॉलो करना न भूले।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *