बच्चों के दांतों  की इन समस्याओं न करें नजरअंदाज

By hindihealthguide.in

बच्चों के दांतों का ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है। इससे उनका स्वास्थ भी प्रभावित होता है। चीफ पीडियाट्रीशियन राजीव छाबड़ा बता रहें हैं बच्चों के दांतों से जुड़ी कौन सी समस्याओं को अनदेखा नहीं करना चाहिए?

अधिक मात्रा में कैंडी, चॉकलेट, चिप्स और फास्टफूड का सेवन करने के कारण बच्चों के दांतों के खराब होने की संभावना रहती है।

बच्चों के दांत खराब होने के कारण

बच्चे के दांत ज्यादा मीठा खाने या रात में ब्रश न करने की वजह से सड़ने लगते हैं। ऐसे में मुंह की सही तरह से सफाई बहुत जरूरी है नहीं तो यह दिक्कत पूरे मुंह में फैल सकती है।

दांतों में सड़न

अगर बच्चों के दूध के दांत समय से पहले टूटते हैं, तो दांत ठीक तरह से निकल नहीं पाते और उनका शेप बिगड़ता है। ऐसा चोट, दांतों में सड़न या अन्य समस्याओं के कारण होता है।

समय से पहले दांत टूटना

ठीक से ब्रश ना करने और ज्यादा कोल्ड ड्रिंक पीने से बच्चों के दांतों में झनझनाहट या सेंसिटिविटी की समस्या हो सकती है।

दांत सेंसिटिव होना

केले को मैश करके इसमें नारियल तेल, शहद मिलाकर गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को बालों में लगाएं। 1 घंटे बाद बालों को शैंपू से धो लें।

रगड़कर ना साफ करें दांत

अगर बच्चे के दांत टेढ़े-मेढ़े या एक के ऊपर एक चढ़े हुए निकल रहें, तो इससे उसे मुंह बंद करने में और खाना चबाने में दिक्कत हो सकती है।

दांत बाहर निकलना

बच्चे के दांत जल्दी टूटने या हिलने लगते हैं, तो इससे उनके चेहरे और जबड़े वाले हिस्से में दर्द होने लगता है। वे ठोस चीजें नहीं खा पाते हैं।

दांत हिलना

अक्सर बच्चे खेलने की वजह से जल्दी-जल्दी ठीक से चबाए बिना ही खाना निगल लेते हैं। उन्हें खाना ठीक से चबाकर खाने के लिए कहें। इससे उनके दांतों में खाना नहीं फंसेगा और कीड़े भी नहीं लगेंगे।

खाना चबाकर खाएं

बच्चों के लिए सॉफ्ट व छोटे ब्रश रखें। मीठी चीजें कम खिलाएं। सोने से पहले ब्रश जरूरी।

सावधानियां

ऐसी ही नई वेब स्टोरी के लिए क्लिक करे