HindiHealthGuide

रस्सी कूदने के 12 फायदे और नुकसान – Benefits of Skipping Rope

Benefits of Skipping Rope in Hindi

क्या आप भी वजन घटाने के बारे में सोच रहे हैं, लेकिन काम की व्यस्तता के कारण जिम नहीं जा पा रहे हैं या एक्सराइज आदि के लिए समय नहीं निकाल पा रहे हैं।

अगर हां, तो अब आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि बचपन में खेले जाने वाला रस्सी कूद यानी स्किपिंग का खेल आपको बेहद कम समय में ही फिट और स्लिम बना देगा।

रोजाना केवल 10 से 15 मिनट रस्सी कूदकर आप अपना वजन घटा सकती हैं। स्किपिंग मतलब रस्सी कूदना एक बेहतरीन ऐरोबिक एक्सरसाइज है। इससे पूरे शरीर की एक्सरसाइज होती है।

यह वजन कम करने के साथ ही बांह और काफ मसल्स को टोन करने में मदद करता है  नियमित रूप से रस्सी कूदने से हड्डियां मजबूत होती हैं और एकाग्रता व स्टेमिना भी बढ़ता है।

एक्सपर्ट्स बताते हैं कि 10 मिनट स्किपिंग करने से उतना ही फायदा मिलता है, जितना की 30 मिनट जॉगिंग, 15 मिनट दौड़ने व 12 मिनट तैराकी करने से।

मतलब कि 10 मिनट तक लगातार रस्सी कूदकर आप 100 कैलोरी बर्न कर सकती हैं। लेकिन रस्सी कूद यानी स्किपिंग एक शॉर्ट ड्यूरेशन एक्सरसाइज है मतलब इसे ज़्यादा से ज़्यादा 20 मिनट तक ही करना चाहिए।

इससे ज़्यादा समय तक लगातार स्किपिंग करने से आपके लोअर बॉडी पर अत्यधिक दबाव पड़ सकता है, जिससे घुटनों के चोटिल होने का ख़तरा बढ़ जाता है।

रस्सी कूदने के फायदे – Benefits of Skipping Rope

Benefits of Skipping Rope

दोस्तों एक्सरसाइज या फिजिकल एक्टिविटी हर व्यक्ति के लिए बेहद जरूरी है। लेकिन आज कल के दौर में वक्त की कमी की वजह से लोग एक्सरसाइज कर ही नहीं पाते।

जिसकी वजह से शरीर में कई तरह की भयंकर बीमारियां बढ़ने लगती हैं। इसलिए हम आज आपके लिए एक आसान एक्सरसाइज़ लाए हैं।

जिसे अपनी लाइफस्टाइल मे शामिल करके बहुत आसानी से खुद को फिट रख सकते हैं। सबसे अच्छी बात कि यह सिर्फ आप 200 से 300 रूपए में कर सकते हैं।

इसके लिए आपको रोजाना केवल 15 मिनट से लेकर आधे घंटे तक का समय निकालना होगा। इसे आप अपने घर की छत पर या कही भी कर सकते हैं। लेकिन चलिए यह जान लेते हैं कि आखिर Benefits of Skipping Rope in Hindi

1. कैलोरी बर्न करने में फायदेमंद (Benefits of Skipping Rope in Calorie Burn )

दोस्तो यह बात तो हम सभी जानते हैं कि जब भी हम किसी खाद्य सामग्री का सेवन करते हैं तो हम असल में अपने शरीर में कैलोरी की मात्रा ले रहे होते हैं। जब यह कैलोरी कम जलने लगती हैं

तो इसका असर हमारे वजन में दिखना शुरू हो जाता है। वही रस्सी कूदने से हम आसानी से कैलोरीज  जला सकते हैं।

आपको यह जानकर बेहद हैरानी होगी कि महज कुछ मिनट रस्सी कूदने से शरीर में बहुत सी कैलोरीज आसानी से जल जाती हैं। जिसके बाद आप फिट होने लगते हैं और मोटापा कम होने लगता है।

2. मानसिक स्वास्थ्य मे फायदेमंद (Benefits of Skipping Rope in Mental Health )

शारीरिक गतिविधि का मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ सकता है। एनसीबीआई द्वारा पब्लिश एक अध्ययन के मुतबिक, जो लोग ज्यादा शारीरिक गतिविधि नहीं करते हैं, उनमें डिप्रेशन (अवसाद) के लक्षण नजर आ सकते हैं।

वहीं, रस्सी कूद जैसे अधिक श्रम वाले व्यायाम करने वालों में अवसाद के लक्षण कम होते पाए गए हैं। इस आधार पर यह कहा जा सकता है कि शारीरिक गतिविधि के लिए रस्सी कूदना एक बेहतर उपाय साबित हो सकता है।

3. जोड़ों मे फायदेमंद

रस्सी कूदने के फायदे जोड़ों के लिए भी हो सकते हैं। नियमित रूप से रस्सी कूदने पर टखने, घुटने, कूल्हे और कंधों के जोड़ों की गतिविधि में तेजी आती है।

इसका सकारात्मक असर जोड़ों पर दिखाई दे सकता है और उनमें सुधार हो सकता है। फिलहाल, इस संबंध में और शोध की आवश्यकता है।

इसे भी पढे – घुटनों के दर्द के लिए योग – 7 Best Yoga for Knee Pain

4. हड्डियों के घनत्व में सुधार (Benefits of Skipping Rope in
Bone density )

क्या आपको लगता है कि कैल्शियम की गोलियां निगलने से आपकी हड्डी घनत्व में सुधार हो सकता है? खैर, यह कर सकता है, लेकिन यह अभ्यास आपकी हड्डी की ताकत बढ़ाने के लिए एक अधिक प्राकृतिक तरीका है।

इससे हड्डी को उत्तेजित करने में मदद मिलती है और इसे मजबूत करती है। इसका एक लाभ यह है कि दबाव चलने के विपरीत दोनों पैरों पर है यह आपकी हड्डी की घनत्व को बेहतर बनाने में मदद करता है और आपको स्वस्थ रहने में मदद करता है।

5. स्टैमिना में फायदेमंद (Benefits of Skipping Rope in
Stamina )

उम्र के साथ या किसी तरह की फिजिकल एक्टिविटी ना हो पाने की वजह से लोगों का स्टेमिना भी कमजोर होने लगता है। जिसकी वजह से लोग बहुत जल्दी थक जाते हैं।

लेकिन रस्सी कूदने के लाभ आपको स्टैमिना बढ़ाने में देखने को मिलते हैं। यह एक ऐसी एक्सरसाइज में शामिल है जो आपको बिना अधिक थकाए आपकी सारी बॉडी पार्ट्स को एक्टिवेट करती है। इसलिए स्टैमिना बढ़ाने के लिए रस्सी कूदना फायदेमंद माना गया है।

6. मोटर फंक्शन में  सुधार (Benefits of Skipping Rope in
Motor Function )

मोटर फंक्शन हमारे मांसपेशियों की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाता है। आज कल की दिनचर्या में मांसपेशियों का ध्यान रखना अधिक मुश्किल हो गया है।

पर अगर रोजाना केवल 15 से 20 मिनट रस्सी कूदी जाए तो मोटर फंक्शन को बेहतर बनाया जा सकता है। आमतौर पर इसे बच्चों के लिए बहुत अधिक फायदेमंद माना गया है। 

6.  पल्मोनरी में सुधार (Benefits of Skipping Rope in
Pulmonary)

खराब खानपान और जीवनशैली की वजह से कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा होती है। इसमें पल्मोनरी यानी फेफड़ों में मौजूद एक प्रकार की धमानियां भी हैं।

पल्मोनरी में समस्या आने पर फेफड़ों से जुड़ी बीमारी हो सकती है। यहां तक कि श्वसन प्रणाली भी प्रभावित हो सकती है। ऐसे में पल्मोनरी धमनियों को स्वस्थ रखना जरूरी हो जाता है।

इन्हें स्वस्थ रखने के लिए रस्सी कूदने का सहारा लिया जा सकता है। दरअसल, रस्सी कूदने से शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा में वृद्धि होती है, जिससे फेफड़े की कार्यप्रणाली में सुधार हो सकता हैं।

7. हृदय स्वास्थ्य में सुधार (Benefits of Skipping Rope in
heart )

हृदय हमारे शरीर के सबसे अहम हिस्सों में से एक है। इसी की वजह से हमारे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन होता है। लेकिन लोग इसी का सबसे कम ध्यान रखते हैं।

बेकार की चीजो को खाना और एक्सरसाइज ना करना दिल की बीमारी के जोखिम को बढ़ा सकता है। ऐसे में रोजाना रस्सी कूदने से हृद्य की क्षमता बढ़ने लगती है। इस एक्टिविटी के कारण  हार्ट स्ट्रोक का खतरा भी कम होता है। रस्सी कूदने के ऐसे ही कई ओर फायदे भी हैं।

8. लंबाई बढ़ाने मे फायदेमंद (Benefits of Skipping Rope in
Increase Hight)

अगर आप अपनी लंबाई को लेकर अक्सर परेशान रहते हैं तो समझ लिजिए की आपकी समस्या खत्म हो गई। ऐसे कई शोध हुए हैं जिनमें पाया गया है कि जो लोग रस्सी कूदते हैं

उनकी लंबाई तेजी से बढ़ने लगती है। हालांकि इस पर अभी तक कोई ठोस परिणाम सामने नहीं आया है। लेकिन लंबाई बढ़ाने के लिए रस्सी कूदी जा सकती है।

9. लचीलापन में सुधार (Benefits of Skipping Rope in Flexibility)

नियमित रूप से लंघन न केवल वसा कम कर देता है बल्कि आपके शरीर के आंदोलनों में सुधार भी करता है, विशेष रूप से फुटवर्क और संतुलन आपका शरीर लचीला हो जाता है, और आप मील के लिए नीचे चल सकते हैं या एक साहसी ट्रैकिंग यात्रा पूरी कर सकते हैं।

10. वजन कम करने मे फायदेमंद (Benefits of Skipping Rope in
Reduce weight )

how to weight loss

रस्सी कूदने से Weight loss में बड़ी मदद मिलती है. अगर हर रोज केवल एक Exercise मतलब सिर्फ रस्सी कूद ही 20 मिनट तक किया जाए ,

तो एक हफ्ते तक लगातार कूदने से 500 ग्राम तक वजन कम किया जा सकता है। वजन कम करने के इच्छुक लोगों को रस्सी कूदने को अपने एक्सरसाइज रूटीन में शामिल करना चाहिए।

इसे भी पढे –

रस्सी कूदने के कुछ अन्य फायदे – Skipping other Benefits in Hindi

  • रस्सी कूदने में शरीर के सभी जोड़ और अंग काम करते हैं। जो बहुत सी कम एक्सरसाइज में देखने को मिलता है।
  • रस्सी कूदने से आपके पैर हमेशा स्वस्थ बने रहते हैं। इससे आपको दौड़ने में भी मदद मिलती है। 
  • रस्सी कूदने से आपके शरीर से वजन आसानी से कम होने लगता है।
  • रस्सी कूदने से शरीर में हार्मोन बैलेंस रहते हैं। जिसकी वजह से टेंशन और डिप्रेशन जैसी समस्या नहीं होती है।
  • स्किपिंग के लिए कोई खास जिम या उपकरणों की जरूरत नहीं पड़ती। इसे आप कहीं भी कर सकते हैं।
  • इसके लिए आपको बस एक रस्सी चाहिए। इसके बाद इस पर कोई पैसा नहीं लगता है । यह रस्सी भी बहुत कम कीमत और आसानी से मिल जाती है।
  • माना जाता है कि आधे घंटे दौड़ना और दस मिनट तेजी से की गई रस्सी कूदने के फायदे के बराबर है।

रस्सी कूदने समय इन बातों का ख्याल रखें।

  • खाली पेट ही स्किपिंग करें।
  • लिमिट से ज्यादा उपर ना कूदें।
  • मांसपेशियों खिंच सकती हैं, इसलिए अगर शुरुआत कर रहे हों, तो कम स्पीड से ही करें।
  • मांसपेशियों में ज्यादा खिंचाव ना आए, इसलिए सबसे पहले स्ट्रैचिंग कर लें।
  • धीरे-धीरे स्पीड और टाइम को बढ़ाएं।
  • आरामदायक कपड़े ही पहनें।
  • रस्सी कूदने के वक्त स्पोर्ट्स शूज जरूर पहनें।
  • रस्सी कूदें के वक्त अपने बॉडी पॉश्चर पर विशेष ध्यान दें।
  • स्किपिंग करने के बाद कूलिंग एक्सरसाइज करने की आदत डालें।

रस्सी कूदने का सही तरीका क्या है ?

अगर आपने पहले कभी रस्सी नहीं कूदा है तो शुरुआत कम गिनती से करें। एक दिन में 50 बार रस्सी कूदने से शुरु करें। कुछ दिन के बाद जब यह आपके लिए आसान हो जाये तो 75-100 बार रस्सी कूदें।

धीरे-धीरे एक दिन में 300 बार तक रस्सी कूदना कर सकते हैं।  कुछ बातें ध्यान में रखें कि रस्सी कूदते समय जब सांस फूलने लगे तो रस्सी कूदना बंद कर दें। एक स्पीड में रस्सी कूदें जिससे हार्ट रेट एक सी बनी रहे।

रस्सी कूदने से कुछ देर पहले थोड़ा पानी पी लें, नहीं तो कूदने के बीच प्यास लग सकती है। रस्सी कूदते हुए और कूदने के तुरंत बाद पानी न पियें. रस्सी कूदने के कई तरीके होते हैं,

लेकिन इनमें से कुछ कठिन होते हैं। उन्हें करने के लिए अभ्यास की जरूरत होती हैं। यहां हम सामान्य से लेकर कठिन तरीकों के बारे में बता रहे हैं।

दोनों पैरों से कूदना (Two leg jump rope)
Two leg jump rope

दोनों पैरों को एकसाथ उठाकर रस्सी कूदना आसान और आम है। जो लोग पहली बार रस्सी कूदने के बारे में सोच रहे हैं, वो इस तरीके से शुरुआत कर सकते हैं।

एक पैर से कूदना (Single-Leg Jump)
Single Leg Jump

इस तरीके को काफी अभ्यास के बाद ही किया जा सकता है। इसमें एक पैर से कूदा जाता है, जिससे लिए पूरे का शरीर संतुलन बनाना जरूरी होता है। अगर किसी ने रस्सी कूदना शुरू ही किया है, तो इसे न करे।

कूदते हुए हाथ क्रॉस करना (cross hand jump)
cross hand jump

इस तरह के रस्सी कूद में कूदने वाला अपने हाथों को सामने की तरफ क्रॉस कर लेता है। कई बार इस तरीके को करते समय रस्सी के पैरों में फंसकर गिरने का डर रहता है। इसलिए, यह तरीका सिर्फ अनुभवी लोग ही कर सकते हैं।

नोट : अगर आप पहली बार रस्सी कूदने का अभ्यास कर रहे हैं, तो शुरुआत में कम गति से दोनों पैरों के साथ शुरू करें।

रस्सी कूदने का सही समय – Right Time to do Skipping in Hindi

Benefits of Skipping Rope in Hindi


जिस प्रकार व्यायाम करने का निश्चित समय होता है, उसी प्रकार रस्सी कूदने का भी उचित समय सुबह ही है। इससे पूरे शरीर में रक्त संचार बेहतर हो सकता है। इसके अलावा, आप शाम को भी रस्सी कूद सकते हैं। ये दोनों ही समय रस्सी कूदने के लिए बेहतर होते हैं।


किन लोगों को रस्सी नहीं कूदनी चाहिए? – Who Should Avoid Skipping in Hindi

  • दिल से जुड़ी किसी तरह की बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को रस्सी कूदने से परहेज करना चाहिए।
  • हाई ब्लड प्रैशर की समस्या से जूझ रहे लोगों को भी रस्सी कूदने से परहेज करना चाहिए।
  • अगर आपको अस्थमा या सांस से जुड़ी अन्य कोई समस्या है तो आपको भी रस्सी नहीं कूदनी चाहिए।
  • अगर आपका किसी तरह ऑपरेशन हुआ है या फिर आपने किसी प्रकार की सर्जरी करवाई है और वह अब तक पूरी तरह ठीक नहीं हुई है। तो आपको भी रस्सी नहीं कूदनी चाहिए।
    हड्डियों से संबंधित किसी तरह की समस्या होने पर भी रस्सी कूदनी नहीं चाहिए।
  • अगर आप इनमें से किसी भी तरह की समस्या से पीड़ित हैं तो आप केवल डॉक्टर की सलाह के बाद ही स्किपिंग करें वरना इसके फायदे से ज्यादा आपको नुकसान हो सकते हैं।

रस्सी कूदने के नुकसान – Side Effects of Skipping in Hind

जिस तरह रस्सी कूदना शरीर को फायदा पहुंचा सकती है, वैसे ही इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। जो इस तरह के हो सकते हैं

  • रस्सी कूदते समय रस्सी के टूटने पर चोट लग सकती है।
  • कई बार पैरों में मोच आ सकती है।
  • इसे करते समय मांसपेशियों में खिंचाव उत्पन्न हो सकता है।
  1. अच्छी गुणवत्ता वाली रस्सी का प्रयोग करें क्योंकि अभ्यास के दौरान अगर रस्सी टूट गई तो आपको चोट भी लग सकती है।
  2. रस्सी कूद को खुले क्षेत्र में करें क्योंकि अभ्यास के दौरान रस्सी किसी वस्तु में फंस गई तो आपको चोट भी लग सकती है।
  3. रस्सी कूदने के लिए आप एक उच्च प्रभाव वाली स्पोर्ट्स ब्रा पहनें क्योंकि स्किपिंग से स्तन ऊपर नीचे अधिक हिलते है। इससे स्तन की मांसपेशियों में अधिक खिंचाव आ सकता है और हो सकता है आपके स्तन शिथिल भी हो जाएंगे।
  4. रस्सी कूदना एक उच्च तीव्रता वाला व्यायाम है इसलिए व्यायाम शुरू करने से पहले व्यक्ति को उचित वार्म-अप करना चाहिए। स्किपिंग से पहले स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज बहुत जरूरी है।
  5. कई अध्ययनों का दावा है कि नंगे पैर यानि बिना जूते चप्पल के रस्सी कूदना बेहतर है क्योंकि यह आपके पैरों को मजबूत बनाता है। यह पैरों से संबंधित कई समस्याओं को ठीक करने में भी मदद करता है।
  6. रस्सी कूदना समय के साथ धीरे-धीरे अपने शरीर के धीरज स्तर और स्थिति के साथ अभ्यास करें। ध्यान रखें स्किपिंग रोप का उपयोग केवल कैलोरी जलाने के लिए ना करें।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल


Q. क्या रस्सी कूदने से लंबाई बढ़ सकती है?
A.
कई मामलों में ऐसा देखा गया है जब रस्सी कूदने से लोगों की लंबाई बढ़ी है। लेकिन इस पर अब तक कोई ठोस रिसर्च नहीं हुई है।

Q. क्या कैलोरी जलाने के लिए स्किपिंग सबसे आसान तरीका है?
A.
हां, स्किपिंग के जरिए आप महज एक मिनट में 10 से 16 कैलोरी जला सकते हैं।

Q. क्या रस्सी कूदने से वजन कम होता है?
A.
हां, रस्सी कूदने से वजन कम हो सकता है। आप इसे भी हमारे आर्टिकल मे पढ़ सकते है।

Q. क्या रस्सी कूदने के नुकसान भी होते हैं?
A.
हां, रस्सी कूदने के बहुत से नुकसान हैं जिनके बारे में आप हमारे आर्टिकल में पढ़ सकते हैं।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *